सुपौल: मरौना प्रखंड के बेलही चौक स्थित दुर्गा मंदिर में सच्चे दिल से मांगी गई हर मुरादे होती है पूरी।

सुपौल : मरौना प्रखंड मुख्यालय स्थित बेलही चौक पर बनी सार्वजनिक दुर्गा मंदिर में भक्तों द्वारा सच्चे मन से मांगी हर मुरादे होती है पूरी । सन् 1981 ईस्वी में बेलही गांव के ही तत्कालीन मुखिया शुभ नारायण मंडल , सरपंच बैधनाथ साह , प्राथमिक शिक्षक संघ के अंचल सचिव जगदीश यादव , सेवा निवृत प्रधान शिक्षक हीरालाल साहू ,वासुदेव साह , महादेव नायक , मोतीलाल गोस्वामी , सेवा निवृत प्रधान वासुदेव मंडल सहित गांव के प्रबुद्ध लोगो ने फुस का घर बनाकर माँ दुर्गा की विधिवत पूजा आरम्भ किया गया था । जिसके बाद ग्रामीणों के सहयोग से तकरीबन 15 लाख रूपये की लागत से भव्य मंदिर का निर्माण किया गया । जिसमे विगत दो वर्ष पूर्व  11 लाख की लागत से माँ दुर्गा की संगमर्मर की स्थाई प्रतिमा की स्थापना की गयी है ।  

उक्त मंदिर में दो समितियां है

प्रथम समिति स्थाई है जिसका अध्यक्ष पूर्व मुखिया शुभ नारायण मंडल , प्रभार में अधिवक्ता सत्य नारायण मंडल सचिव पूर्व सरपंच बैधनाथ साह प्रभार में शिव शंकर प्रसाद व कोषाध्यक्ष जगदीश यादव के स्वर्गवास होने उपरांत  शिक्षक विजय कुमार यादव हैं।  दूसरी समिति अस्थायी मेला समिति है जो प्रति वर्ष आम सभा कर बनायी जाती है जिसमे अध्यक्ष राम बिलास यादव , सचिव ओम प्रकाश यादव एवम् कोषाध्यक्ष रामाधीन मंडल है । 

चालीस वर्ष से लगातार उक्त मंदिर में पंडित सेवा निवृत प्रचार्य आचार्य विद्याकांत झा विधिवत पूजा अर्चना करबा रहे हैं और पुजारी ग्रामीणों में चुनकर आते हैं इस बार पुजारी के रूप में शिव शंकर प्रसाद हैं । जो भी व्यक्ति श्रद्धा और विश्वास से सार्वजनिक दुर्गा मंदिर बेलही में कामना करते हैं उनकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होती है । मंदिर के मुख्य सेवादार पुजारी सेवा निवृत प्रधान शिक्षक हरिनारायण मंडल ने बताया की 1981 ईस्वी से ही माता रानी की भव्य पूजा आराधना ग्रामीणों के सहयोग से होती आ रही है ।

Post a Comment

0 Comments