SUPAUL : दिघीया क्वारनटाईन से एक शख्श को लाया गया निर्मली कवारनटाईन होम ,लोगो ने किया विरोध ।

सुपौल : निर्मली  सहित आसपास के इलाकों में एक वीडियो क्लिप काफी तेजी से वायरल हो रहा है।साथ ही वीडियो के साथ एक छोटा सा कंटेंट भी शेअर किया गया।शेअर कंटेंट में बताया गया है इस एम्बुलैंस में एक कोरोना पोजेटिव मरीज जो कि मधुबनी के लौकही प्रखण्ड स्थित नरहिया का एक मौलवी है।
जिसे निर्मली कन्या मध्य विद्यालय में लाया गया है।जिसपर स्थानीय लोगो ने विरोध जताकर उसे अपने जिले के क्वारनटाईन में रखे जाने का मांग कर उसे वहां से निकाल दिया।उक्त कंटेंट व वायरल वीडियो पर जब Nb news ने वीडियो की सच्चाई जानने के लिए वायरल वीडियो का जाँच शुरू कर दिया ।वायरल टेस्ट में पता चला की उक्त सख्श को सदर अस्पताल सुपौल में कोरोना संक्रमित होने का जाँच कराया गया था लेकिन जाँच रिपोर्ट आना बांकी था जिसको लेकर प्रसाशन की मदद से शख्श को दिघीया कवारनटाईन में रखा गया था।

लेकिन जब जाँच रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव आई तो शख्श को दिघीया क्वारनटाईन से निर्मली नगर के मेन रोड स्थित कन्या मध्य विद्यालय क्वारनटाईन में रखने के लिए शुक्रवार की शाम 5 बजे एम्बुलेंस से लाया गया।जहाँ क्वारनटाईन होम में पहले से  रह रहे करीब 10 लोगो ने विरोध किया।फिर क्या इस बात की जानकारी नगर के लोगो को भी हो गई और लोग वहां पहुंचकर जमकर विरोध करने लगे। एम्बुलेंस मुख्य सड़क मार्ग पर तकरीबन आधे घन्टे तक शख्श को लेकर खड़ा रहा।फिर मामला एसडीएम नीरज नारयण पांडे के संज्ञान में गया।मामले को लेकर एसडीएम ने निर्देश दिया कि उक्त शख्श को दिघीया क्वारनटाईन होम ही में रखे।तो आपको दे कि व्हाट्सप्प पर तेजी से वायरल हो रही यह वीडियो सही है लेकिन लिखे गए कंटेंट में कुछ बाते जाँच पड़ताल में गलत पाया गया है।


Post a Comment

0 Comments