WEATHER UPDATED : बिहार में बदला मौसम का मिजाज, राज्य के कई जिलों में भारी बारिश।

पटना : पश्चिमी विक्षोभ के कारण एक बार फिर बिहार के कई जिलों में शुक्रवार की रात से अचानक मौसम बदल गया है। शनिवार को दोपहर बाद राजधानी पटना, वैशाली सहित कई जिलों में बारिश शुरू हो गई है। वहीं कई जिलों में बादलों का डेरा है। मौसम विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ की वजह से बिहार में भारी बारिश और ओलावृष्टि का अलर्ट जारी किया था।बता दें कि मार्च के पहले बीस दिन में पश्चिमी विक्षोभ तीसरी बार फिर सक्रिय हुआ है। ऐसी स्थिति में बिहार के कई जिलों में 21 और 22 मार्च को कुछ स्थानों पर बारिश और ओला वृष्टि की आशंका जतायी गई थी।

सिवान, मोतिहारी, रोहतास, सासाराम सहित कई जिलों में बादल छाए हुए हैं तो वहीं कई जिलों में धूप खिली है। बता दें कि पश्चिमी विक्षोभ बिहार में एक्टिव होने को है और इसका असर सबसे ज्यादा दक्षिण बिहार पर होगा।पटना सहित दक्षिण बिहार के कई जिलों में अगले 24 घंटे में बारिश होने की संभावना है तो वहीं, हवा की रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर रहने की संभावना जताई गई है।भारत मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से जारी पूर्वानुमान में दक्षिण बिहार, झारखंड, अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अगले 24 घंटे के दौरान बारिश की संभावना जताई गई है और इसके साथ ही बिहार के कई जिलों में ओलावृष्टि का भी पूर्वानुमान लगाया गया है। 


पटना के मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी पर बने विपरीत चक्रवाती क्षेत्र के कारण आर्द्र हवाएं बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल पहुंच रही हैं और यही कारण है कि मौसम पूर्वानुमान में यह कहा गया है कि बिहार के पटना सहित कई जिलों में भारी बारिश और ओलावृष्टि की संभावनाएं बन रही हैं। बता दें कि पिछले हफ्ते भी बिहार के कई जिलों में ओलावृष्टि हुई थी,

जिससे किसानों की काफी फसल बर्बाद हो गई थी। उसके बाद बिहार के कृषि मंत्री ने जिन जिलों में ओलावृष्टि से किसानों के फसल नुकसान हुए थे, उन्हें मुआवजा देने की भी बात कही थी।जिस तरह से अब दक्षिण बिहार के कुछ जिलों में ओलावृष्टि की संभावना मौसम विभाग ने 24 घंटे के अंदर जतायी है निश्चित तौर पर अगर ओलावृष्टि होती है तो किसानों के फसलों को फिर से भारी नुकसान हो सकता है।हालांकि मौसम विज्ञानियों का मत है कि इस बार का विक्षोभ ज्यादा प्रभावी नहीं है।

Post a Comment

0 Comments