CORONA UPDATED : कोरोना संक्रमण की आशंका वाला युवक पटना के आइसोलेशन वार्ड परिसर से गायब।

पटना :  पीएमसीएच से रेफर किया गया कोरोना संक्रमण की आशंका वाला युवक एम्स पटना के आइसोलेशन वार्ड परिसर से गायब हो गया। 35 वर्षीय युवक चिकित्साकर्मियों को हाथ पर एयरपोर्ट की मुहर दिखाते हुए स्कॉटलैंड से आने और कोरोना पॉजिटिव होने की बात कह रहा था। सुनते ही चिकित्साकर्मी और मरीज भागने लगे। अफरातफरी का फायदा उठा आरएमआरआइ में ही जांच कराने की बात कहते हुए वह फरार हो गया। सूचना मिलते ही एम्स के अधिकारियों के बीच हड़कंप मच गया।
 थानाध्यक्ष को  सूचना देने के बाद सिविल सर्जन ने इस बाबत केस दर्ज कराया है। जिलाधिकारी कुमार रवि ने जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस को उसकी तलाश करने को कहाखुद को कोरोना का संदिग्ध बताकर एम्स पटना से फरार युवक गोनपुरा का रहने वाला है। स्थानीय ग्रामीणों को जब उसके बारे में पता चला तो पूरे गांव में अफरा-तफरी मच गई। गुरुवार को ही वह स्कॉटलैंड से वापस आया था और उसने कई ग्रामीणों से मुलाकात भी की थी। ग्रामीणों में इसी बात को लेकर दहशत है। जब लोगों को पता चला कि वह गांव में ही अपने घर में मौजूद है तो लोगों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस और स्वास्थ्य विभाग को दी।


जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम एंबुलेंस लेकर उसके गांव गोनपुरा पहुंची। काफी समझाने-बुझाने के बाद जब मरीज आइसोलेशन में भर्ती को तैयार हुआ तो उसे देखते ही एंबुलेंस चालक ने बिना किट के मरीज को ले जाने से इनकार कर दिया और गोनपुरा से एंबुलेंस लेकर चालक फरार हो गया।एम्स के निदेशक डॉ. प्रभात कुमार सिंह ने बताया कि युवक खुद को कोरोना  पॉजिटिव बता रहा था। जब उसका सैंपल लेने के लिए चिकित्सक के पास भेजा गया तो वह रास्ते से फरार हो गया। युवक की मानसिक स्थिति ठीक नहीं लग रही थी। सिविल सर्जन डॉ. राजकिशोर चौधरी ने बताया कि प्रथम दृष्टया एम्स प्रबंधन की लापरवाही सामने आई है। केस कर दिया गया है। पुलिस और स्वास्थ्य विभाग उसकी तलाश में लगे हैं।

Post a Comment

0 Comments