CORONA UPDATED : दीप प्रज्वलित करने से बचा जा सकता है कोरोना वायरस के प्रभाव से -यह एक अफवाह है।

सुपौल :  कोरोना वायरस जिन्होंने चीन सहित दुनिया के कई देशों में  अपना पाँव पसार चुकी है।जिससे अब तक दुनियाभर में 218,910 लोग वायरस से संक्रमित 8925 की मौत और 85724 लोग ठीक हो चुके है।वही बिहार में भी कोरोना के संदिग्ध मिले है।ऐसे में  हमे वायरस से बचाव के लिए सावधानी बरतनी चाहिए।वही आपको बता दे कि कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर भी आजकल तरह-तरह के जोक व अफवाहें सुनने व देखने को मिल रही है।इसी बीच बिहार के सुपौल जिले के कोसी दियारा क्षेत्र में बसे लोगो के बीच कोरोना वायरस को लेकर एक अफवाह तेजी से फैल रही है ।

दरसल किसी ने अफ़वाह फ़ैला दिया है कि जिस महिला को जीतने बच्चे है उतने की संख्या में नई दीप घर के मुख्य दरवाजे पर प्रज्वलित करना होगा इससे उनके बच्चों पर कोरोना वायरस का असर नही होगा।यदि जो महिला दीप प्रज्वलित नही करेगी उनके सभी संतान कोरोना वायरस की चपेट में आकर अपनी जान से हाथ धो बैठेंगे।अफवाह सुन कुछ देर के लिए मैं हैरान हो गया कि आखिर यह कैसे संभव है कि जिस कोरोना वायरस का दवा अभी तक किसी देश को नही मिली है।सभी देश इस वायरस का सफल इलाज के लिए तरह-तरह के दवाओं के असर का जाँच कर रहे है किंतु इधर ग्रामीण इलाके में कोरोना से बचने का तरीका व तोड़ दीप बताया जा रहा है।

हमने गाँव के महिलाओं द्वारा बताये गए बात पर बिल्कुल यकीन नही किया और हम आस-पास के दो-तीन गाँव का मुआयना कर अवफाह के बारे में जानना चाहा कि इस तरह के अफवाह एक ही गाँव मे है या आसपास के गांव में भी,तो हमे मालूम हुआ कि इस तरह के अफवाह सिर्फ एक ही गाँव नही बल्कि कोसी क्षेत्र के
महिलाओं द्वारा जलाये गए दीप।

बौराहा,सोनवर्षा,खानपुर,बेंगा,आसानपुरकुपहा,कलीमूँगरा,लक्ष्मीनिया,परसामाधो, एकडारा गाँव सहित आसपास के कई गांवों मे भी इस तरह के अफवाह फैली हुई है। गांव के तो कई महिलाओं ने बताई की हम सभी ने बीती रात करीब 10-11 बजे ये नुक्सा किये है।ताकि हमारे संतान को कुछ न हो।अब सवाल उठता है कि आखिर इस तरह का अफवाह किसने और कहा से फैलाया।क्या वाकई दीप प्रज्वलित करने से कोरोना वायरस का प्रभाव नही होगा।

तो मै आपको बता दूं कि दीप प्रज्वलित करने वाली कहानी एक अफवाह है।इस तरह के अफवाह पर आप बिल्कुल विश्वास मत कीजिये । कोरोना वायरस से आपको कोई बचा सकता है तो वह आपकी सावधानी है।बात रही अफवाह कहा से फैली तो इसकी कोई पुख्ता जानकारी अबतक नही मिली है हालांकि जानकारी यह जरूर मिल रही है कि यह अफवाह उत्तर दिशा की ओर से आई है।

Post a Comment

0 Comments