सुपौल : अनुमंडल कार्यालय निर्मली आये व्यक्ति हुए ठगी के शिकार - जाने क्या है मामला !

सुपौल : निर्मली अनुमंडल कार्यालय में कार्यरत कर्मी द्वारा एक व्यक्ति को कार्य कराने का प्रलोभन देकर दस हजार रुपये ठगी कर लिया गया है।मामले का उजागर तब हुआ जब मरौना प्रखंड क्षेत्र के भलुआही गाँव निवासी घूरन ठाकुर ने अनुमंडल पदाधिकारी नीरज नारयण पांडे को आवेदन देकर ठगी किये जाने की जानकारी दिया।
दिए गए आवेदन में आवेदक ने कहा है कि भूमि सुधार उपसमाहर्ता निर्मली के न्यायालय में चल रहे भूमि विवाद निराकरण वाद संख्या 78/18-19 में स्थल जाँच करने हेतु भूमि सुधार उपसमाहर्ता आये थे।उनके साथ मे पेशकार रामचन्द्र चौपाल भी थे।पेशकार ने  मुझे बुलाकर कहा कि वाद में आदेश पारित हेतु दस हजार रुपये लगेगा।
तब ही पक्ष में आदेश पारित हो पायेगा।अपने पक्ष में आदेश पारित होने का प्रलोभन के चलते मैं दस हजार रुपये नगद पेशकार को दे दिया किन्तु मेरे पक्ष में न तो आदेश ही पारित हुआ और न ही पेशकार द्वारा लिए गए रकम वापस नही दिया जा रहा है।मैं गरीब व्यक्ति हूँ कर्ज लेकर दस हजार पेशकार को दिया था।आवेदक के बातो को सुनते हुए अनुमंडल पदाधिकारी ने उक्त बातो का शपथ पत्र के साथ आवेदन देने का निर्देश आवेदक को दिया।
कहा कि शपथ पत्र देने के बाद ही विधिवत कार्रवाई की जाएगी।अनुमंडल पदाधिकारी के निर्देशानुसार आवेदक द्वारा शपथ पत्र के साथ आवेदन दिया गया किन्तु कार्रवाई नही हो रही है।इधर पूछने पर अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि सम्बन्धित पेशकार को नोटिश किया गया है।मामले की छानबीन भी की जा रही है।

Post a Comment

0 Comments