सुपौल : रिटायर होने के बाद भी प्रभार नहीं सौंप रहे प्रधान सहायक मामले को लेकर निर्मली एसडीएम नगर पंचायत कार्यालय पहुंचकर वस्तु स्थिति से हुए अवगत- देखे पूरी रीपोर्ट

सुपौल "DESK" : NB NEWS लोकल वेब न्यूज पोर्टल में दिनांक 3 फरवरी 2020 को रिटायर होने के बाद भी प्रभार नहीं सौंप रहे प्रधान सहायक की प्रकाशित खबर का असर मंगलवार को देखने को मिला। दरसल अनुमंडल पदाधिकारी नीरज नारायण पांडे मंगलवार को नगर पंचायत  कार्यालय पहुंचकर वस्तु स्थिति से अवगत हुए। अनुमंडल पदाधिकारी ने कार्यपालक पदाधिकारी प्रमोद कुमार रजक, सेवानिवृत्त  हुए प्रधान सहायक रामकुमार सिंह ,मुख्य पार्षद दुलारी देवी , उप मुख्य पार्षद रंजीत कुमार नायक एवं अन्य वार्ड पार्षदों से  रिटायर होने के बाद भी प्रधान सहायक द्वारा प्रभार नहीं सौंपा जाने के कारण की जानकारी प्राप्त किए । मुख्य पार्षद एवं उप मुख्य पार्षद ने अनुमंडल पदाधिकारी को बताया कि सामान्य बोर्ड की बैठक में प्रधान सहायक के संविदा आधारित नियोजन की सेवा विस्तार करने का प्रस्ताव लिया गया है। इसी आलोक में प्रधान सहायक के द्वारा प्रभार नहीं सौंपा गया है। वही उपस्थित कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि बैठक में लिए गए प्रस्ताव की हमें कोई सूचना नहीं मिली है। ना ही हम  उक्त बैठक में उपस्थित थे। वहीं कई वार्ड पार्षद ने कहा कि बैठक की कोई सूचना हम लोगों को भी नहीं दी गई थी। आनन-फानन में बैठक बुलाकर प्रस्ताव लिए जा रहे हैं।
आश्चर्य की बात यह है कि प्रधान सहायक अब तक नजारत का प्रभार भी अपने पास रखे हुए हैं। वार्ड पार्षद की बात को सुनते हुए प्रधान सहायक ने कहा कि नजारत का प्रभार कार्यालय लिपिक गौरव कुमार को सौंप दिया गया है। जबकि कार्यपालक पदाधिकारी ने पत्र जारी करते हुए प्रधान सहायक को अपना प्रभार कार्यालय के केसियर संजय कुमार को सौंपने का निर्देश दिया था। मामले को उलझते देखते हुए अनुमंडल पदाधिकारी ने कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि नगर विकास एवं आवास विभाग बिहार सरकार से मार्गदर्शन लिया जाए। मार्गदर्शन मिलने के अनुरूप कार्रवाई की जाए। ज्ञातव्य हो कि  प्रधान सहायक के विरुद्ध  कई आरोपों से संबंधित  मामला  अब तक  अधिकारियों के जिम्मे में  विचाराधीन है। मामला जो भी हो फिलहाल प्रधान सहायक को अभिलेखों के त्रुटि सुधार करने का मौका अवश्य मिल गया है।         

प्रधान सहायक द्वारा प्रभार नहीं सौंपने के मुद्दे पर वार्ड पार्षद दो गुटों में विभक्त।

 नगर पंचायत निर्मली में कार्यरत प्रधान सहायक राम कुमार सिंह के रिटायर होने के बाद भी अपना प्रभार नहीं सौंपी जाने को लेकर वार्ड पार्षद दो गुटों में विभक्त हो गया है। मुख्य पार्षद, उप मुख्य पार्षद सहित कई वार्ड पार्षदों ने जहां बहुमत के आधार पर रिटायर प्रधान सहायक के सेवा विस्तार का प्रस्ताव पारित किया है। वही नगर के 4 वार्ड पार्षदों ने सेवानिवृत्ति के उपरांत प्रधान सहायक के सेवा विस्तार किए जाने के प्रस्ताव को बिहार सरकार नगर विकास एवं आवास विभाग के निहित प्रावधान के विरुद्ध बताया है। दूसरे गुट की वार्ड पार्षदों ने मुख्य पार्षद एवं उप मुख्य पार्षद पर आरोप लगाते हुए कहा कि अपने मेली सरोकारों के लिए सेवानिवृत्त प्रधान सहायक का सेवा विस्तार किया गया है ।इतना ही नहीं सेवानिवृत्त हुए प्रधान सहायक के द्वारा कार्यपालक पदाधिकारी के आदेश की अवहेलना भी किया गया है। कार्यपालक पदाधिकारी ने जब कार्यालय के वरीय कर्मचारी संजय कुमार को प्रभार देने का का निर्देश दिया था तो किस परिस्थिति में प्रधान सहायक के द्वारा नाजिर का प्रभार नवनियुक्त लिपिक गौरव कुमार को दिया गया है। बिछुब्ध वार्ड पार्षदों ने मामले को न्यायालय में ले जाने की बात भी कही है।

Post a Comment

0 Comments