मधुबनी : अधिकारियों की एक टीम ने मदना पंचायत की विभिन्न योजनाओ का किया जांच

मधुबनी : अंधराठाढी प्रखंड में लोकायुक्त के निर्देश पर शनिवार को अधिकारियों की एक टीम ने मदना पंचायत की विभिन्न योजनाओ के जांच की। जांच टीम में जिला पंचायती राज पदाधिकारी नौशाद अहमद एवं डी आर डी ए निदेशक किशोर कुमार एवं तकनीकी पदाधिकारी आदि लोग शामिल थे। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अधिकारियों ने परिवाद में वर्णित सभी योजनाओ की संचिका के साथ ग्राम पंचायत मदना की मुखिया, पंचायत सचिव,रोजगार सेवक एवं वार्ड क्रियान्वयन प्रबंधन समिति के अध्यक्ष, सचिव को प्रखंड मुख्यालय पर बुलाया था।
 उसके घंटो समीक्षा होने के बाद दिन के तीन बजे से शाम सात बजे तक योजनाओ के भौतिक सत्यापन की गई।मदना पंचायत के मोo आफताब आलम  ने लोकायुक्त के समक्ष मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना से संचालित गली नाली, नल जल योजना एवं मनरेगा योजना समेत अन्य योजनाओ में कथित धांधली का आरोप लगा कर परिवाद दाखिल किया था। जिस परिवाद के आलोक में सभी योजनाओ के भौतिक सत्यापन एवं गहन जांच पड़ताल की गई। परिवाद में वर्णित योजनाओं में कुछ योजनाओ के भौतिक सत्यापन हो पाई।
मनरेगा योजना में भारी अनियमितता मिला।चार फीट मिट्टी के जगह कम मिट्टी पाई गई। उसके बाद मदना मस्जिद के निकट मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना से बनी सड़क को खुदाई कर देखी गई। इधर पंचायत की मुखिया पति मोo कमरुज्जमा  ने पूछने पर बताया कि मदरसा हुसैनिया के प्रबंध समिति को लेकर पूर्व से मदरसा बोर्ड में उभय पक्षों के बीच विवाद चल रहा है। मदरसा विवाद को लेकर उनके पंचायत में संचालित विभिन्न योजनाओ पर मनगढ़ंत आरोप लगाकर शिकायत की है। जांच में दूध का दूध पानी का पानी अलग हो जाएगा।
जांच अधिकारियों ने  कुछ भी बताने से परहेज़ किए। उन्होंने कहा कि माननीय लोकायुक्त के समक्ष जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जाएगा। बहरहाल जो भी हो जांच टीम पहुंचते ही पूरे प्रखंड में हरकंप मच गया है। अधिकाश मुखिया इस तरह के जांच से सकते में है।

Post a Comment

0 Comments