सुपौल : मनरेगा विभाग में लूट की खुली छूट - देखे पूरी रिपोर्ट !

सुपौल : जिले के राघोपुर प्रखंड अंतर्गत राघोपुर पंचायत के वार्ड नं. पाँच में मनरेगा विभाग की लालफीताशाही एवं लूट की खुली छूट का मामला उभरकर प्रकाश में आया है।एक तरफ जहाँ लाभुक कशमकश की स्थिति में है वहीं अधिकारी के चेहरे पर जीत की चमक नजर आ रही है।राघोपुर पंचायत के वार्ड नं. पाँच में मनरेगा योजना 27/2017-18,योजना कोड L D20269570 के तहत चौधरी,पासवान,राम एवं मंडल टोला के सभी बी पी एल धारी के निजी आवास भूमि में मिट्टी भराई कार्य को रोजगार सेवक की निगरानी में 09.06.2018 को प्रारंभ किया गया जो कार्य प्रारंभ की तिथि से तीन माह के अंदर पूर्ण कराया जाना था।


कुछ लाभुकों को सिर्फ पाँच-पाँच ट्रेलर (ट्रैक्टर) दिया गया और कुछ को शून्य पर आउट कर दिया गया जिससे वार्डवासियों में आक्रोश स्पष्ट नजर आ रहा है।स्थानीय राजकुमार राम,फूलकुमार मंडल, भोला चौधरी,सुभाष झा,राजेन्द्र मंडल, कामेश्वर मंडल,सहदेव चौधरी आदि लोगों ने बताया कि मिट्टी के अलग अलग प्राक्कलन के अनुसार मिट्टी नहीं देकर कुछ लाभुकों को सिर्फ पाँच-पाँच ट्रेलर मिट्टी दिया गया और उसके बाद कार्य पर पूर्ण विराम लगाकर प्राक्कलित राशि 995200/- रुपये का बंदरबांट कर लिया गया है।ग्रामीणों द्वारा पूछे जाने पर संबंधित अधिकारी चुप्पी साधे हुए है।पूछे जाने पर रोजगार सेवक शमीम ने बताया कि कार्य को सौ प्रतिशत पूरा किया जा चुका है।कार्यक्रम पदाधिकारी राघोपुर आलोक रंजन,प्रखंड विकास पदाधिकारी राघोपुर सुभाष कुमार और अनुमंडल पदाधिकारी बीरपुर सुभाष कुमार ने कहा कि उक्त मामले की जांच कर कार्रवाई किया जाएगा।उक्त मामले में व्याप्त लालफीताशाही और सरकारी धन के बंदरबांट को लेकर ग्रामीणों ने कहा कि एक सप्ताह के भीतर यदि कार्य को पूरा नहीं किया गया तो जिलाधिकारी सुपौल से मिलकर स्थिति से अवगत कराया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments