सुपौल : निर्मली में चल रहे निष्ठा प्रशिक्षण कार्यशाला का हुआ समापन,गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण को लेकर खड़े हो रहे है कई सवाल

सुपौल : निर्मली प्रखंड क्षेत्र के आदर्श मध्य विद्यालय महुआ में आयोजित निष्ठा प्रशिक्षण कार्यशाला में कुल 438 शिक्षको ने प्रशिक्षण शुक्रवार को प्राप्त कर ली है।किन्तु निष्ठा प्रशिक्षण प्राप्त किये शिक्षको के गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण पर कई सवाल खड़े हो रहे है।केंद्र पर प्रायोजित निष्ठा प्रशिक्षण कार्यशाला मानक दंड पर खड़ी उतर पायी है कि नही यह देखने के लिए आजतक सम्बंधित विभाग के जिला स्तर के किसी भी अधिकारी ने कार्यशाला का मुआयना करना मुनासिब नही समझा है।
आनन फानन में स्थानीय शिक्षा अधिकारी के मिली भगत से प्रशिक्षण कार्यशाला प्रभारी ने तीन चरणों के प्रशिक्षण कार्यशाला का समापन कराते हुए प्रशिक्षणार्थियो को प्रमाण पत्र दे दी है।हालांकि एसडीएम नीरज नारयण पांडे के द्वारा द्वतीय चरण के कार्यशाला का निरीक्षण कर कार्यशाला में कई खामियां को उजागर करते हुए जिला पदाधिकारी को प्रतिवेदन समर्पित किये।प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी एवं कार्यशाला प्रभारी को निर्देश देते हुए विधिअनुकूल निष्ठा प्रशिक्षण कार्यशाला चलाने की बात कही।बावजूद द्वतीय एवं तृतीय चरण के प्रशिक्षण कार्यशाला में किसी प्रकार का सुधार नही किया गया।
एसडीएम के निर्देश पर विद्यालय प्रधान कक्ष में रखे प्रोजेक्टर को उठाकर प्रशिक्षण कक्ष में जरूर रख दिया गया।दिखावे के लिए जरनेटर की व्यवस्था प्रशिक्षण स्थल पर की गई किन्तु जरनेटर नही चलाया गया।जहाँ प्रशिक्षणार्थी विद्यालय परिसर के चापाकल का जहरीले पानी पी रहे थे बदले में स्वच्छ पेयजल के नाम पर 20 लीटर की जार की व्यवस्था हुई।एसडीएम के समक्ष प्रशिक्षण कार्यशाला प्रभारी एवं बीइओ जिला से राशि का आवंटन नही होने की ब्यथा सुनाते हुए रोना रोते दिखाई दिए।इधर डीपीओ सर्व शिक्षा अभियान के रजनीकांत प्रवीण का कहना है कि सभी चरणों के प्रशिक्षण कार्यशाला के लिए 75 प्रतिशत की राशि आवंटन कर दी गई है।प्रशिक्षणार्थियो को यात्रा भत्ता भी प्रशिक्षण समापन के दिन ही दिया जाना है।


Post a Comment

0 Comments