सुपौल : झंडोत्तोलन को लेकर दो गुटों में हुए विवाद में राष्ट्रीय ध्वज फाड़ने का मामला आया प्रकाश में।

भीमपुर थाना क्षेत्र के ठूठी पंचायत के चापिन मौजा गणतंत्र दिवस के मौके पर झंडातोलन को लेकर दो गुटों में हुए विवाद में राष्ट्रीय ध्वज फाड़ने का मामला प्रकाश में आया है। घटना वार्ड 13 में स्थित एक मदरसे की है। जिसको लेकर सोसल मीडिया पर राष्ट्रीय ध्वज फाड़ने का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इधर, मामले को संज्ञान में आते ही घटनास्थल पर त्रिवेणीगंज एसडीपीओ गणपति ठाकुर व एसडीएम विनय कुमार सिंह में मामले की छानबीन में जूट हुए हैं। इस बीच इस मामले को लेकर आसपास के लोगों में भारी आक्रोश देखा जा रहा है। जानकारी के अनुसार भीमपुर थाना क्षेत्र के चापिन वार्ड 13 में स्थित एक इश्लामिया फैजुल गौरबा में 26 जनवरी को राष्ट्रीय ध्वज फहराया जा रहा था
 जिसका ध्वजारोहण मदरसा सचिव मो.आलम डीलर ने किया। लेकिन इस बीच पूर्व प्रमुख ज़हूर आलम ने अपने समर्थकों के साथ पहुंचे। जहां दोनों गुटों के बीच आपसी वर्चस्व को लेकर तनातनी शुरू हो गया। और इसी बीच किसी ने झंडा को उतारकर उसे फाड़ दिया। इस बारे में जनवितरण प्रणाली विक्रेता मो.आलम ने बताया कि ज़हूर आलम के साथ आये कुछ लोहों ने विवाद खड़ा कर मेरे द्वरा फहराया गया राष्ट्रीय ध्वज का खंभा उखाड़ कर राष्ट्रीय ध्वज फाड़ दिया एवं मेरे खिलाफ नारेबाजी की। हालांकि पूर्व प्रमुख ज़हूर आलम ने बताया कि मेरे ऊपर लगाए गए आरोप निराधार है। उन्होंने कहा कि मो आलम डीलर के पक्ष के लोगों ने ही इस घटना को अंजाम दिया है।




हालांकि इस घटना को लेकर भीमपुर थानाध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद रवि,त्रिवेणीगंज एसडीओ विनय कुमार सिंह,त्रिवेणीगंज एएसपी गणपति ठाकुर ने घटना के बारे में जानकारी ली। इस सन्दर्भ में एसडीएम विनय कुमार सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय ध्वज का अपमान एवं फाड़ने का वीडियो सोसल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामले को संज्ञान में लेते हुए घटनास्थल पर पहुँचकर जांच की गई। जांच के बाद कर्मचारी को लगाया गया है जिसके बाद प्राथमिक दर्ज की जाएगी। साथ ही वीडियो की सत्यता की जाँच कर एवं घटना में शामिल व्यक्ति की पहचान कर विभिन्न धाराओं के तहत राष्ट्रीय ध्वज के अपमान करने के आरोप में कार्रवाई की जाएगी।

Post a Comment

0 Comments