बिहार के सुपौल में 86 साल बाद कोसी नदी पर बना रेल पुल तैयार, जल्द ही दौड़ेगी ट्रेन

सुपौल (इमामुद्दीन) : 1934 में आए भूकंप की वजह से कोसी नदी पर बना रेल पुल क्षतिग्रस्त हो गया था।इसके बाद यह रेल मार्ग बंद था।86 साल बाद अब कोसी नदी पर रेलवे का पुल तैयार हो गया है।जिसके ऊपर जल्द ही ट्रेनें दौड़ने लगेंगी।कोसी नदी पर बने रेल पुल से ट्रेनों का परिचालन शुरू होने का सबसे ज्यादा लाभ दरभंगा, मधुबनी, सुपौल और सहरसा जिले में रहने वाले लोगो को होगा।इस पुल से मधुबनी और सुपौल जिला एक बार फिर रेल मार्ग से जुड़ जाएगा।पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि कोसी नदी पर बने रेल पुल का मोटर-ट्रॉली से निरीक्षण कर लिया गया है।31 मार्च के बाद इस रूट पर ट्रेनों का परिचालन शुरू हो सकता है।
फ़ोटो : NB NEWS 
पूर्व पीएम वाजपेयी ने रखी थी नींव

बिहार में वर्ष 1934 में आए भूकंप के दौरान कोसी नदी पर बना रेल पुल क्षतिग्रस्त हो गया था।इसके साथ ही उत्तर और पूर्व बिहार के बीच का रेल संपर्क टूट गया था।बाद के दिनों में दोनों इलाकों के बीच रेल संपर्क कायम तो हुआ लेकिन कोसी नदी पर पुल निर्माण का कार्य अटका ही रहा। इस कारण दरभंगा और मधुबनी को सीधे सुपौल व सहरसा से जोड़ने वाला मार्ग बंद था।वर्ष 2003 में 6 जून को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने इस दिशा में पहल की और कोसी नदी पर रेल पुल की नींव रखी गई।16 साल बाद यह पुल बनकर तैयार हुआ है।जिस पर कुछ दिनों के बाद ट्रेनों का परिचालन शुरू होगा।

86 साल बाद कोसी नदी पर बने पुल पर जल्द शुरू होगा ट्रेनों का परिचालन


रेलवे  अधिकारी की माने तो 2 किलोमीटर लंबी  कोसी पुल को सरायगढ़ की ओर से रेलवे ट्रैक से जोड़ दिया गया है।10 जनवरी को मुख्य प्रशासनिक अधिकारी, निर्माण बृजेश कुमार ने पहली बार मोटर ट्रॉली से पुल का निरीक्षण भी किया।उन्होंने बताया कि नए कोसी पुल की कुल लंबाई 1.88 किलोमीटर है और इसमें 45.7 मीटर लंबाई के ओपनवेब गर्डर वाले 39 स्पैन हैं।वही राजेश कुमार ने बताया कि नए पुल का स्ट्रक्चर एमबीजी लोडिंग क्षमता के अनुरूप डिजाइन किया गया है।

उन्होंने  बताया कि 31 मार्च से ट्रेन चलने की संभावना है।सकरी-झंझारपुर-निर्मली-सरायगढ़-सहरसा आमान परिवर्तन परियोजना के तहत नए कोसी पुल का रेलवे ट्रैक से अब सरायगढ़ होते हुए सहरसा से जुड़ाव हो गया है।वहीं सहरसा-सुपौल रेल खंड पर रेल परिचालन पहले से ही जारी है।उन्होंने कहा कि सुपौल-सरायगढ़ रेलखंड भी एक महीने में परिचालन के लिए खोल दिया जाएगा।सरायगढ़ से कोसी पुल पार कर निर्मली की ओर आसनपुर कुपहा हॉल्ट तक रेलखंड का 31 मार्च तक रेल परिचालन के लिए खोल दिए जाने की संभावना है।

Post a Comment

0 Comments